What is the full form of DFO in Hindi?

क्या आप DFO की फुल फॉर्म के बारे में जानते हैं अगर नहीं जानते हैं तो आज इस पोस्ट‌ ‌के माध्यम से हम यहां DFO full form in hindi के बारे में जानकारी प्रदान करने वाले हैं क्या आप भी DFO का फुल फॉर्म जानना चाहते हैं जरूर आपके मन में सवाल उठ रहा होगा कि आखिर यह DFO full form होता क्या होगा तो आप सभी की इस शंका का हम समाधान कर देते हैं। आज इस पोस्ट के माध्यम से आपको डीएफओ फुल फॉर्म के बारे में पूरी जानकारी देंगे डीएफओ फुल फॉर्म क्या होता है? DFO फुल फॉर्म से जुड़ी हुई हर वह जानकारी आपको इस पोस्ट में पढ़ने को मिलेगी।

What is the full form of DFO in Hindi

DFO full form in hindi

जैसा कि आप सब जानते हैं DFO के बहुत सारे फुल फॉर्म होते हैं लेकिन यहां जो सबसे ज्यादा फुल फॉर्म डीएफओ का प्रचलित है वह “डिविजनल फॉरेस्ट ऑफिसर” के रूप में होता है। डीएफओ का फुल फॉर्म यहां पर “Division Forest Officer” होता है। हिंदी में इसको ‘प्रभागीय वन अधिकारी’ के नाम से जाना जाता है।

  • D – Division
  • F – Forest
  • O – Officer

Division Forest officer कौन होता है?

डीएफओ अर्थात प्रभागीय वन अधिकारी एक आईएफएससी ऑफिसर होता है। इसको आप उपवन संरक्षक या फिर deputy conservator of Forests भी कहते हैं। मुख्य रूप से डीएफओ का काम प्राकृतिक संसाधनों का प्रबंध करना होता है। प्रभागीय वन अधिकारी वन संपदा और वन में मौजूद जानवरों की सुरक्षा करने का काम करते हैं।

मुख्य रूप से देखा जाए तो उनकी यही जिम्मेदारी होती है कि वन में किसी भी जानवर को कोई मनुष्य हानि न पहुंचा है। इसके अलावा वन विभाग में जो भी अधिकारी काम करते हैं। वह सभी डीएफओ अधिकारी के अंदर में ही काम करते हैं। वन विभाग के अन्य कर्मचारी और अधिकारी डीएफओ अधिकारी के द्वारा ही चयन किए जाते हैं। किसी भी तरह के पर्यावरण से जुड़े हुए काम के लिए या फिर जीव संरक्षण के जुड़े हुए काम की मुख्य भूमिका निभाता है।

डीएफओ अर्थात प्रभागीय वन अधिकारी की रैंक पुलिस विभाग के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक और जिला अधिकारी के समान ही होती है। पुलिस के अंदर में जिस प्रकार से जिले के कानून की व्यवस्था को बनाए रखना और पूरे जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखना होता है। इस तरह से डीएफ अधिकारी का काम पूरे वन में वन के साथ-साथ वन्य जीवों को संरक्षित करने की जिम्मेदारी का काम होता है।

डिविजनल फॉरेस्ट ऑफीसर की जिम्मेदारी उस स्थान पर ज्यादा होती है। जहां एक स्थान का क्षेत्रफल ज्यादा होता है। और ज्यादातर जनजाति वनों पर ही पूरी तरह से निर्भर होती है। वहां डीएफओ अधिकारी की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाती है।

DFO अधिकारी के काम

डीएफ अधिकारी को भारतीय वन अधिनियम 1927 के तहत अधिकार दिए हैं। जिसमें जरूरत के अनुसार वह सख्त से सख्त कदम उठा सकता है। अब डीएफ अधिकारी को क्या-क्या अधिकार दिए गए हैं आईए जानते हैं।

  • डीएफओ अधिकारी अपने क्षेत्र में कोई व्यक्ति अगर वन क्षेत्र में पालन नहीं कर रहा है वन अधिनियम की पालना न करने पर डीएफओ अधिकारी उसे पर कार्रवाई कर सकता है।
  • वन्यजीवों पर होने वाले हमले और संरक्षण में डीएफओ अधिकारी ही मुख्य भूमिका निभाता है।
  • वन क्षेत्र में अर्थात जहां पर डीएफओ अधिकारी का अधिकार क्षेत्र वहां पेड़ों की कटाई रोकने वन संपदा संरक्षण का काम भी डीएफओ अधिकारी के ही अंतर्गत आता है।
  • जिला स्तरीय समिति का डीएफओ अधिकारी अध्यक्ष होता है।
  • डीएफओ अधिकारी के वन अधिनियम के अंतर्गत अर्ध न्यायिक अधिकारी होने के वजह से पूरे अधिकार करने का फैसला होता है वह किसी भी मामले में कुछ भी डिसीजन ले सकता है।
  • कोई भी व्यक्ति अपने घर में वन से जुड़ी हुई किसी भी वस्तु को रख लेता है और उसके खिलाफ कंप्लेंट होने पर डीएफओ अधिकारी वारंट भी निकल सकता है
  • वन्य जीव और वन संपदा को नुकसान पहुंचाने की स्थिति में डीएफओ अधिकारी मुहावजे की राशि को जारी करने का काम कर सकता है।

Conclusion

आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको “What is the full form of DFO in Hindi” के बारे में पूरी जानकारी विस्तार से बताई है यहां DFO अधिकारी कौन होता है, उसका फुल फॉर्म और उसके कार्य से संबंधित सभी जानकारियां आपको इस लेख में दी है। अगर आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी तो उसको अधिक से अधिक लाइक शेयर कीजिए और अन्य किसी जानकारी के लिए आप हमारे कमेंट सेक्शन से भी जुड़ सकते हैं। अन्य फुल फॉर्म के लिए आप बने रहिए हमारे वेबसाइट पर ताकि आपको और अधिक इनफॉरमेशन मिल सके।

Hello, My Name is Charanjeet Singh and I am a professional blogger since 2018. I have completed my PGDCA Diploma. and I love to write about Entertainment, Gaming, and General Knowledge.

Sharing Is Caring:

Leave a Comment